हम बारिश के पानी को कैसे बचा सकते हैं?

जैसा कि हम जानते हैं कि पूरा विश्व पानी के संकट को झेल रहा है | और दिन प्रतिदिन स्पीक खराब होती जा रही है | यहां तक कि कई भविष्य वक्ताओं का यह भी मानना है कि अगला विश्वयुद्ध पानी के लिए ही होगा . इसलिए यह हम सबकी जिम्मेदारी बनती है ना कि पानी को कम खर्च करें बल्कि प्रकृति द्वारा मिल रहे बारिश के रूप में पानी का संचय भी करें |

आज मैं आपसे बारिश के पानी को संचय कैसे किया जाए इस बारे में चर्चा करूंगा |

बारिश के पानी को संचित करने में सबसे बड़ी मुश्किल शहरी इलाकों होती है यहां पर कम होने के कारण पानी जमीन के अंदर नहीं जा पाता है |

इसके लिए हम सभी को अपने घर में एक ऐसे वाटर टैंक का निर्माण करना चाहिए जो बारिश के समय छत पर एकत्र हुए पानी को पाइप के माध्यम से उस वाटर टैंक में एकत्रित कर सके और जरूरत पड़ने पर हम उसका उपयोग करें |

आज मैं आपको एक बात बताने जा रहा हूं जिसे सुनकर आपको हैरानी हो क्या आप जानते हैं कि देश का 70 परसेंट पानी देश के कृषि सिंचाई में जाता है |

अगर हम इस पर काबू पा ले तो हम एक बहुत बड़ी मात्रा में पानी की बचत कर सकते हैं |

लेकिन आप लोगों के मन में यह सवाल आ रहा होगा अगर किसान सिंचाई नहीं करेगा तो हम खाएंगे क्या ? तो मैं आपको बताना चाहता हूं कि मैं सिंचाई के लिए मना नहीं कर रहा हूं बल्कि मैं यह कह रहा हूं कि कुछ आधुनिक तरीकों का प्रयोग कर कर हम प्रकृति द्वारा मिले पानी से ही अपने खेतों की सिंचाई कर सकते हैं |

 

 

जी हां आपने बिल्कुल सही सुना है हरियाणा के एक किसान ने पॉन्ड लाइनर का उपयोग करके उन्होंने इस कृत्रिम तालाब का निर्माण किया है और वह बारिश के समय एक बड़ी मात्रा में पानी का संचय करते हैं उन्होंने बताया है कि वह इस पानी के उपयोग से और आधुनिक सिंचाई प्रणाली की मदद से इसी पानी के जरिए 12 साल से खेती कर रहे हैं |

मैंने स्वयं भी वी.के पैक वेल द्वारा निर्मित पॉन्ड लाइनर का उपयोग करके अपने गांव में एक कृत्रिम तालाब का निर्माण किया है जिसकी सहायता से ना केवल मैं अपने खेतों की सिंचाई करता हूं बल्कि उसमें मोतियों की खेती कर कर पैसा भी कमा रहा हूं

Leave a Reply